Scheme of Uttar Pradesh government in 2021 | उत्तर प्रदेश सरकार की प्रमुख योजनाएं 2021 एवं धनराशि

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

जन स्वास्थ्य योजना

 स्वास्थ्य जन योजना के तहत प्रदेश में कोविड-19 की रोकथाम एवं संक्रमण को कम करने के लिए प्रदेश सरकार ने 20 फरवरी 2021 तक 6 लाख 3 हजार कोरोनावायरस संक्रमित रोगियों की पहचान की, और  संक्रमण रोगियों में 5 लाख 91 हजार रोगी नेगेटिव पाए गए |

कोविड-19 की रोकथाम और टीकाकरण करने हेतु  50 करोड़ रुपए की व्यवस्था प्रस्ताव की |

आयुष्मान भारत योजना के लिए कुल 1300 करोड़ रुपए की व्यवस्था प्रस्ताव सरकार ने की |

इसी योजना से जुड़े आयुष्मान भारत मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के लिए कुल 142 करोड़ रुपए व्यवस्था का प्रस्ताव किया |

राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के तहत 5395 करोड़ रुपए की व्यवस्था का प्रस्ताव इसमें शामिल है |

अमेठी एवं बलरामपुर में नए मेडिकल कॉलेज क्या स्थापना के लिए 175 करोड़ रुपए की व्यवस्था का प्रस्ताव भी शामिल है |

इतना ही नहीं एटा, हरदोई, फतेहपुर,  प्रतापगढ़,  देवरिया,  सिद्धार्थनगर,  मिर्जापुर एवं गाजीपुर में निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज में उम्मीद की है कि जुलाई से शिक्षणशस्त्र प्रारंभ होने की आशंका जताई है इन कॉलेजों के लिए कुल 960 करोड़ रुपए के बजट की व्यवस्था का प्रस्ताव इसमें शामिल है |

लखनऊ में इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड इन्फेक्शस डीजीजेज के अंतर्गत लैब बनाने के लिए प्रस्ताव है केजीएमयू लखनऊ के अलावा राजकीय कॉलेज प्रयागराज मेरठ में डायबिटीज रेटिनोपैथी उपचार सेंटर की भी स्थापना करवाने की उम्मीद है हालांकि ऐसा इसलिए किया जा रहा है कि प्रदेश में डायबिटीज से बनने वाले रोगियों की संख्या को देखते हुए लखनऊ में उन्नत मधुमेह केंद्र भी स्थापित करने का निर्णय सरकार ने लिया है |

महिला सशक्तिकरण हेतु उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने 1 अप्रैल 2019 को मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना शुरुआत की जो बालिकाओं के लिए स्वास्थ्य एवं शिक्षा को प्रोत्साहित करेगी बालिका के जन्म के प्रति समाज में एक सकारात्मक सोच पैदा करेगी | इसके लिए प्रदेश सरकार ने 15000 रुपए की सहायता प्रदान करने का प्रस्ताव जारी की है इस योजना में कुल 1200 करोड़ रुपए का बजट बनाया गया है |

महिला शक्ति केंद्र की स्थापना हेतु कुल 32 करोड़ रुपए व्यवस्था की |

नहरों एवं सरकारी नलकूपों के माध्यम से किसानों को मुफ्त में पानी की सुविधा दिलाने के लिए 700 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है |

इसके अलावा मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के अंतर्गत 600 करोड़ रुपए के बजट की व्यवस्था का प्रस्ताव किया |