UP Government Scheme 2021 | Up Government Launch Apps and Portal | उत्तर प्रदेश सरकार की योजनाएं एवं पोर्टल

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

एक बार फिर से आपका allindiafreetest.com पर स्वागत है | उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 2021 में लाँच की गयी योजनाएं, Apps एवं पोर्टल के बारे में विस्तृत जानकारी इस लेख के माध्यम से प्रकासित कर रहें है.

Uttar Pradesh Government Scheme 2021

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा लांच की गई प्रमुख योजनाएं निम्न है यह सभी योजनाएं वर्ष 2021 की प्रमुख योजनाएं हैं पहले की योजनाओं के बारे में हम अन्य लेख में बताएंगे जिसकी सूचना आपको टेलीग्राम ग्रुप पर मिल जाएगी आईएस शुरू करते हैं |

1. मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना –

 इस योजना को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लांच किया है इस योजना के तहत सिर्फ उन्हीं परिवार के बच्चों को मदद मिलेगी जिनके माता-पिता की मृत्यु कोविड-19 (कोविड महामारी) के दौरान हो गयी है | इनमें से बच्चे भी शामिल किए गए हैं जिनके माता-पिता में से किसी एक या दोनों की मृत्यु कोविड -19 में हो गई |

 इस सुविधा का लाभ उन्हें मिलेगा जो उन बच्चों के गार्जियन के रूप में उनकी देखभाल करते हैं उन्हें सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी |

इस वित्तीय सहायता के अंतर्गत सरकार द्वारा ₹4000 प्रति माह देखभाल करने वाले व्यक्ति या अभिभावक को मिलेगा ओरिया तब तक मिलेगा जब तक कि वह बच्चा एडल्ट ना हो जाए |

आपको बता दें कि इनमें ऐसे बच्चे भी शामिल किए गए हैं जिनकी उम्र 10 साल से कम है और उनके परिवार में उनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है तो ऐसे बच्चों के लिए सरकार ने विभिन्न देखरेख केंद्र को स्थापित किया है जिनमें पढ़ाई की सुविधा भी उपलब्ध है |

उत्तर प्रदेश में वर्तमान समय में कुल 5 केंद्र स्थापित किए गए हैं जिनमें मथुरा लखनऊ आगरा प्रयागराज और रामपुर शामिल किया गया है इन जिलों में चिल्ड्रन होम के माध्यम से बच्चों की सारी सुविधाएं सरकार द्वारा दी जाएंगी  |

 इस योजना के अंतर्गत छोटी बच्चियों को ‘कस्तूरबा गांधी गर्ल्स स्कूल’ में भेजा जाएगा यह सरकार द्वारा चलाई जाती है वर्तमान समय में इनकी संख्या की बात करें तो टोटल 13 है जिन्हें उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अनुदान दिया जाता है और चलया जाता है |

 इसके अलावा 18 अटल रेजिडेंशियल स्कूल भी हैं जिन्हें उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाया जाता है उनमें भी गर्ल्स को रखा जाएगा उनकी शादी की उम्र होने पर ₹101000 भी दिया जाएगा |हालांकि ऐसे बच्चों को सरकार टेबलेट और लैपटॉप की सुविधा भी प्रदान करेगी जिससे वे अपनी पढ़ाई कर सकते है |

2. उत्तर प्रदेश कोविड इमरजेंसी वित्तीय सहायता योजना

( uttar Pradesh Emergency Financial Support Scheme )

 इस योजना के अंतर्गत कोविड-19 से संबंधित प्रोडक्ट बनाने के लिए अगर कोई व्यक्ति को उद्योग लगाना चाहता है तो सरकार उसके लिए 25% छूट देगी और अधिकतम 10 करोड़ तक उस कंपनी फैक्ट्री को देगी लेकिन इसके लिए कम से कम 20 लाख तक का इन्वेस्टमेंट भी करना होगा | इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार सभी परमिट को 72 घंटों के अंदर जारी करेगी |

3. Mission for Integrated Development of Horticulture

 उत्तर प्रदेश के 45 जिलों में इस योजना को शुरू किया गया है , इसके अंतर्गत बागवानी जाएगी | अगर कोई व्यक्ति हाईटेक नर्सरी लगाना चाहता है तो कम से कम 1 करोड रुपए का खर्च आएगा यदि एक सरकारी संस्था द्वारा की जाएगी तो 100% की छूट और यदि यह प्राइवेट संस्था या किसी व्यक्ति द्वारा किया जाएगा तो इसमें 50% तक की छूट दी जाएगी लेकिन इसके लिए अधिकतम छूट 40 लाख तक दी जा सकती है | हालांकि इसके लिए लगभग 1 से 4 हेक्टेयर तक की भूमि की आवश्यकता होगी | अगर कोई व्यक्ति छोटा नर्सरी या बागवानी केंद्र लगाना चाहता है तो इसके लिए लगभग  0.4 हेक्टेयर भूमि ( लगभग 1 एकड़ ) की आवश्यकता होगी, इसे बनाने के लिए लगभग 15 लाख तक का खर्च आएगा और इसमें सरकार के द्वारा 50% सब्सिडी या अधिकतम 7.5 लाख रुपए तक की सहायता या छूट दी जाएगी | छूट में 40% राज्य सरकार द्वारा और 60% केंद्र सरकार द्वारा दिया जाएगा |

4. ग्राम उजाला सुविधा योजना

 यह योजना 24 जनवरी को लांच किया गया था इस योजना को लंच करने के लिए 24 जनवरी की सबसे खास बात यह है कि 24 जनवरी 1950 को उत्तर प्रदेश का स्थापना दिवस होता है |

 योजना पूरे भारत में 5 जगहों पर शुरू की गई है इसमें से उत्तर प्रदेश एक प्रमुख राज्य के रूप में शामिल है | योजना उत्तर प्रदेश के वाराणसी से शुरू की गई है |

 इस योजना के अंतर्गत 10₹ प्रति LED वल्ब, (7 WATT, 12 WATT ) 15 मिलियन वल्ब बाटे जायेंगे |

यह योजना वाराणसी (उत्तर प्रदेश ), आरा (बिहार), विजयवाड़ा (आंध्र प्रदेश), नागपुर महाराष्ट्र और गुजरात शामिल है |

इस योजना के तहत अधिकतम 1 परिवार को पांच LED बल्व मिल सकते हैं इसे बनाने के लिए CESL – Convergence Energy Services Ltd. की मदत से जो कि एक Energy Efficiency Service Ltd कम्पनी का हिस्सा है ने सरकार के साथ मिलकर इस योजना के लिए कार्यरत है, जो कि ऊर्जा दक्षता के लिए काम करने वाली एक कम्पनी है | LED वल्ब सामान्य विद्युत बल्व से 90% तक कम विद्युत ऊर्जा को ग्रहण करता है |

आशा है कि ये लेख पसंद आया होगा इसका 2nd part आगे हम प्रकासित करेंगे | अगर का भी कोई सवाल है तो हमें कमैंट्स करें और इसे आपने दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर करें

जय हिन्द !!