Novavax Vaccine for Child | Best Covid-19 Vaccine for Child

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

Novavax Vaccine for Child

Novavax Vaccine का क्रिनिकल ट्रायल सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया द्वारा जुलाई में की जाने की उम्मीद जताई जा रही है | सितम्बर 2021 तक सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया द्वारा नोवावेक्स वैक्सीन लाँच की जाने की उम्मीद भी है और सबसे जरुरी बात यह है की नोवावेक्स वैक्सीन को भारत के अन्दर कोवोवेक्स वैक्सीन (Covovax Vaccine) के नाम से लाँच किया जायेगा | अब कुछ अन्य वैक्सीन के बारे में जानकारी देने की कोशिस करेंगे |

Novovax or Covovax Vaccine

इस वैक्सीन का औपचारिक नाम NVX – CoV2373 है तथा इसे एक अमेरिकी कम्पनी नोवावेक्स द्वारा विकसित किया गया है | इस वैक्सीन को 2° से 8° तक के Temperature  में रखा या स्टोर किया जा सकता है |यह वैक्सीन मुख्य रूप से SARS-CoV-2 की सतह पर स्पाइस प्रोटीन को टारगेट करती है जिससे SARS-CoV-2 की सतह पूरी तरह कोविड से लड़ने के लिए तैयार रहे |इस स्पाइस प्रोटीन के कारण ही वायरस शरीर की कोशिकाओं के जरिये प्रवेश करता है और अपनी संख्या में लगातार वृद्धि करने लगता है |

हाल ही में इस वैक्सीन के तीसरे चरण का क्रिनिकल ट्रायल किया गया जिसमें यह काफ़ी असरदार पाया गया है | इतना ही नहीं अभी हाल ही में नोवावैक्स और भारत के सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया के मध्य एक समझौता पर हस्ताक्षर हुआ है जिसमें सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया को वैक्सीन आपूर्ति के लिए लाइसेंस नोवावैक्स ने दिया है इसमें मध्यम आय वाले देशों में भी सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया वैक्सीन की आपूर्ति करेगा |

Novavax Vaccine for Child | Best Covid-19 Vaccine for Child

चुकि इस वैक्सीन को बनाने में भारतीय शोधकर्ताओं ने स्पाइक प्रोटीन उत्पन्न करने वाले वायरस के जेनेटिक्स सिकवेंस का एक भाग लिया और प्रयोग के लिए इसे बैकुलोवायरस के साथ मिक्स किया यानि की उसके अन्दर डाल कर यह प्रयोग किया क्योंकि वैकुलोवायरस रोगजानक होते है इसलिए यह कीड़ो पर हमला करते रहते हैं जब ये सक्रिय हो गए तो इन्हें एक मॉडिफाइड वैकुलोवायरस की मदद से कीटों की कोशिकाओं के साथ संक्रमण करवाया गया जिससे कीटों की कोशिकाये इस प्रकार की प्रोटीन का उत्पादन करें जो संरचना में पूरी तरह SARS-CoV-2 स्पाइक प्रोटीन के जैसे हों, इस क्रिया के होने के बाद वापस इन प्रोटीन को शुद्ध करके Matrix M नामक एक विलियन में घोला गया और इस प्रकार वैक्सीन को तैयार किया गया |

SARS-CoV-2 वायरस का हमला

टीके के अन्दर पाया जाने वाला प्रोटीन हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को यह सूचना देता है कि SARS-CoV-2 का हमाला हुआ है अब इस जानकारी के मिलते ही शरीर वायरस समझकर उसके प्रति इम्युन रिस्पांस शुरू कर देता है और इस प्रकार अपना काम करता है |

वर्तमान में भारत में उपयोग होने वाली वैक्सीन

कोविड -19 वायरस से लड़ने के लिए वर्तमान समय में भारत में तीन प्रकार की वैक्सीन का उपयोग किया जा रहा है जिसमें मुख्य रुप से कोवीशील्ड, स्पुतनिक V और कोवैक्सीन का उपयोग हों रहा है |

वर्तमान समय में कोविड-19 टीकाकरण अभियान को देखते हुए और डिमांड की आपूर्ति पूरा करने के लिए भविष्य में Covovax, BBV154, ZyCov-D, HGCO19, Corbevax को टीकाकरण में शामिल किया जा सकता है इसमें कोई आशंका नहीं है यह सरकार के फैसले पर निर्भर करता है कि सरकार किस तरह से वैक्सीन की आपूर्ति को पूरा करती है |

Corbevax को हैदराबाद स्थित कम्पनी “Biological E” द्वारा बनाया गया है और इसके क्लिनिकल ट्रायल का तीसरा चरण अभी जारी है और केंद्र सरकार ने इस वैक्सीन को बनाने के लिए ₹1500 करोड़ ख़र्च कर चुकि है जिसमें 30 करोड़ डोज बनाने की बात कही गई है|

स्टूडेंट हमने आपसे Novavax Vaccine for Child | Best Covid-19 Vaccine for चाइल्ड, पर बात की है उम्मीद में ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी | इसे अपने दोस्तों के साथ facebook और whatsapp पर शेयर करें |

!! जय हिन्द !!                           तमसो माँ ज्योतिर्गमय