नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती शायरी, कोट्स, विचार | Subhash Chandra Bose Shayari, Quotes

Subhash Chandra Bose Shayari in Hindi : नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती पर शायरी कोट्स अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। इस लेख में हम नेताजी की जयंती पर शायरी (Subhash Chandra Bose Shayari in Hindi) कोट्स (Subhash Chandra Bose Quotes in Hindi) आपके साथ साझा करेंगे।

इस लेख में हमने सुभाष चंद्र बोस जयंती पर शायरी के अलावा , नेताजी सुभाष चंद्र बोस के विचार, Netaji Subhash Chandra Bose Shayari, सुभाष चंद्र बोस जयंती कोट्स ,Subhash Chandra Bose ke Vichar in Hindi, सुभाष चंद्र बोस जयंती स्टेटस. Subhash Chandra Bose Status in Hindi इन टॉपिक को कवर किया है तो नेता जी पर विचार, कोट्स, शायरी, निबंध आदि पढ़ने के लिए इस लेख को अंत तक पढ़े।

 

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

Netaji Subhash Chandra Bose Quotes in Hindi

सुभाष चंद्र बोस जयंती 23 जनवरी को तीसरा पराक्रम दिवस के रूप में पुरे देश भर में मनाया जा रहा है। नेताजी के बलिदान देश की सेवा और आजादी के दीवानों के साथ क्रन्तिकारी सैनिक के रूप में हुआ। ये भारत की आजादी के वो दीवाने थे जिन्होंने अपने नारों से हिटलर जैसे निरंकुश ताना शाह को प्रभावित कर दिए। हिटलर भी सुभाष चन्द्र बोस के विचार (Subhash Chandra Bose Shayari Quotes Vichar) से पिघल गया और इनकी बातों को रखा। आईये जानते हैं नेताजी से जुड़ी कुछ बातें और उनके विचार.

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस का जन्म कटक (उड़ीसा) में 23 जनवरी 1897 को हुआ। इनके पिता का नाम जानकी नाथ बोस है। Netaji Subhash Chandra Bose भारत की आजादी में अहम भूमिका निभाए। इनके विचार आपको प्रभावित कर देंगे और किसी मोटिवेशन से कम भी नहीं हैं. नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती पर शायरी (Subhash Chandra Bose Quotes in Hindi) अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

सुभाष चन्द्र बोस के विचार आपको प्रभावित अवश्य करेंगे आगे हम ऐसे ही विचारों को आपके साथ साझा करेंगे। नेता जी ने नारे “तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा”, “दिल्ली चलो” आदि बहुत प्रसिद्ध नारे है। जीवन का सच में कोई तो अर्थ है और अपने देश के लिये पहला फर्ज है। एक सिपाही को अपने प्राणो की रक्षा करने के बजाय देश के लिये अंत तक लड़ना है चाहें इसमें उसे अपने प्राणों के बलिदान देना क्यों ना पड़ जाएं।

“अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना भी सबसे बड़ा अपराध है।”

ऐसे महान विचारक और देश प्रेमी Netaji Subhash Chandra Bose को कोटि कोटि नमन।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती शायरी, कोट्स, विचार | Subhash Chandra Bose Shayari, Quotes
Subhash Chandra Bose Shayari, Quotes 

 

Subhash Chandra Bose Ke Vichar in Hindi

Netaji Subhash Chandra Bose एक क्रन्तिकारी, देश भक्त थे। 11 बार जेल गए, इन्होंने कहा की “आजादी अधिकार हमारा” और भीड़ गए अकेले अंग्रेजों से लोहा लेने के लिये। आप पढ़ रहे है Subhash Chandra Bose Ke Vichar in Hindi. इसीलिए नेताजी को 1921 में जेल भी भेजा गया क्योंकि इन्होंने आजादी हमारा अधिकार है और इंकलाब जिंदाबाद जैसे नारा दोहराया। आइए उनके विचारों को जानें.

“मुझे यह नहीं मालूम कि स्वतंत्रता के इस युद्ध में हम में से कौन कौन जीवित बचेंगे। परन्तु मैं इतना जरूर जानता हूँ कि अंत में विजय हमारी ही होगी।”

“अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना भी सबसे बड़ा अपराध है।”

“मैंने अपने जीवन में कभी भी खुशामद नहीं की है। दूसरों को अच्छी लगने वाली बातें करना भी मुझे नहीं आता।”

“अपने कॉलेज जीवन की देहलीज पर खड़े होकर मुझे जो अनुभव हुआ, इसका अर्थ है- जीवन कोई अर्थ और उद्देश्य अवश्य है।”

छोटी छोटी चीजों के लिये मत लड़ो कहा और आजाद हिन्द फ़ौज का गठन किये क्योंकि इन्हें पता था कि बिना सस्त्र के अब अंग्रेजों से नहीं लड़ा जा सकता।

 

Subhash Chandra Bose Details in Hindi

Hindi

आर्टिकल का नाम लिंक (Link) पर जाएं 
पराक्रम दिवस 2023 यहां क्लिक करें
सुभाष चंद्र बोस जयंती 2023 यहां क्लिक करें
सुभाष चंद्र बोस शायरी कोट्स यहां क्लिक करें
सुभाष चंद्र बोस स्टेटस हिंदी में यहां क्लिक करें
सुभाष चंद्र बोस पर भाषण यहां क्लिक करें
पराक्रम दिवस पर निबंध यहां क्लिक करें
सुभाष चंद्र बोस पर निबंध हिंदी में यहां क्लिक करें
सुभाष चंद्र बोस के अनमोल विचार यहां क्लिक करें
सुभाष चंद्र बोस के प्रमुख नारे यहां क्लिक करें
सुभाष चंद्र बोस का जीवन परिचय यहां क्लिक करें 
हमारा टेलीग्राम JOIN करें YOUTUBE सब्सक्राइब करें 

 

Netaji Subhash Chandra Bose Sayari in Hindi

“देश ने जिसे चुना वही हीरो, वही असली नेता थे

अंग्रेजी हुकूमत को धूल चटाने वाले वीर विजेता थे”

नेताजी जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं

 

“सामने आज़ाद हिंद फौज की सेना खड़ी थी

ये बोस के इशारों पर ये चल पड़ी थी

अपने गाँधी जी यहाँ अमन चैन पर अड़े थे

वही नेता जी सेना आजादी अधिकार है पर अड़ी थी”

 

मेरे मन में कोई संदेह नहीं है कि हमारे देश की प्रमुख समस्यायों जैसे गरीबी ,अशिक्षा , बीमारी , कुशल उत्पादन एवं वितरण का समाधान सिर्फ समाजवादी तरीके से ही की जा सकती है .”

उन्होंने कहा जो भी तुम कुछ करते हो यह तुम्हारा कर्म है। इसमें किसी भी प्रकार का कोई बंटवारा नही होता है। इसका फल भी तुम्हे ही भोगना होता है।

 

 

Subhash Chandra Bose FAQ’s 

सुभाष चंद्र बोस का जन्म कब हुआ?

23 जनवरी 1897 को सुभाष चंद्र बोस का जन्म हुआ था।

 

सुभाष चंद्र बोस के पिता का नाम क्या है?

सुभाष चंद्र बोस के पिता का नाम जानकी नाथ बोस है।

 

पराक्रम दिवस मनाने का क्या अर्थ है?

पराक्रम का अर्थ “शौर्य” है। इसे शौर्य दिवस के नाम से भी जाना जाता है।

 

पराक्रम दिवस क्यों मनाया जाता है? 

नेताजी सुभाष चंद्र बोस के सम्मान में उनकी जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाया जाता है।

 

पराक्रम दिवस मनाने की शुरुआत कब से हुई ? 

पहली बार साल 2021 से पराक्रम दिवस मनाने की शुरुआत हुई।

 

पराक्रम दिवस मनाने की घोषणा किसने की?

सुभाष चन्द्र बोस की जयंती 23 जनवरी को मनाई जाती है लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2021 में पराक्रम दिवस मानाने की घोषणा की जिससे नेताजी को सम्मान मिले।

 

निष्कर्ष :- आज का लेख नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती शायरी, कोट्स, विचार (Subhash Chandra Bose Shayari, Quotes, Vichar) पर था उम्मीद है अच्छा लगा होगा। सुभाष चन्द्र बोस के बारे में अपने विचार कमेंट में लिखें ।। जय हिन्द ।।

2 thoughts on “नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती शायरी, कोट्स, विचार | Subhash Chandra Bose Shayari, Quotes”

Comments are closed.