History Most Important Question & Answer | History top 20 Important Question in Hindi

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

History Most Important Question & Answer | History top 20 Important Question in Hindi

इस पोस्ट में हमने भारतीय इतिहास में सिकंदर और जैन धर्म से पूछे गए प्रश्न को जोड़ा है जो आपकी भविष्य की प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका रखती है सभी प्रश्न को विभिन्न परीक्षाओं में जैसे – SSC, Bank, Railway, NTPC, SSC JE, UPSSSC, TET और अन्य परीक्षा में पूछे जा सकते है |

ये सभी प्रश्न one liner होंगे और अंत में एक कहानी आपको बताएंगे छोटी सी इस कहानी के माध्यम से ये दोनों टॉपिक आपको हमेशा के लिए याद हो जायेंगे !!

इतिहास में सिकंदर से पूछे जाने वाले सभी प्रश्न 

Q. 1 सिकंदर का जन्म कब हुआ था

Answer : 356 इसा पूर्व

Q.2 सिकंदर किसका शिष्य था 

Answer : अरस्तु का

Q. 3 सिकंदर का थल सेनापति कौन था

Answer : सेल्यूकस निकेटर

Q. 4 सिकंदर का जल सेनापति कौन था

Answer : निर्याकस

Q.5 सिकंदर के सबसे प्रिय घोड़े का नाम क्या था

Answer : बऊ केफला

Q.6 सिकंदर ने अपने पिया घोड़े बऊकेफला के नाम पर एक प्रमुख नगर बसाया यह किस नदी के किनारे बसा है

Answer : झेलम नदी

Q.7 सिकंदर की सेना ने किस नदी को पार करने से इंकार कर दिया

Answer : ब्यास नदी के पश्चिमी तट को

Q. 8 सिकंदर भारत से कब लौटा

Answer : 325 ईसा पूर्व

Q.9 सिकंदर के पिता का क्या नाम था

Answer : फिलीप

Q.10 सिकंदर का प्रसिद्ध युद्ध कौन सा है और इसे किस नाम से जाना जाता है

Answer : पंजाब के शासक पोरस के साथ झेलम नदी के किनारे, इस युद्ध को हाइडेस्पीज के युद्ध के नाम से भी जाना जाता है |

भारतीय इतिहास में जैन धर्म से पूछे जाने वाले प्रश्न

भारतीय इतिहास में जैन धर्म की बात करें तो महावीर स्वामी के बारे में ज्यादातर प्रश्न पूछे जाते हैं और जैन धर्म की स्थापना किसने की  ? यानी कि आपसे यह प्रश्न पूछा जाता है कि जैन धर्म का संस्थापक कौन है और इसके प्रथम एवं अंतिम तीर्थंकर कौन बने यह भी अपने आप में बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न है आइए विस्तार से प्रश्नों के माध्यम से इसको हम कवर करेंगे | और यह प्रश्न कहीं नहीं कहीं आपके एग्जाम में पूछे गए हैं इसलिए मैं इनको रख रहा हूं | 

Q.1 जैन धर्म के संस्थापक कौन थे

Answer : ऋषभदेव 

Q. 2 जैन धर्म के अंतिम तीर्थंकर कौन थे

Answer : महावीर स्वामी 24 में एवं अंतिम तीर्थंकर थे |

Q. 3 महावीर स्वामी का जन्म कब हुआ था ?

Answer : महावीर स्वामी का जन्म 540 ईसा पूर्व में कुंडग्राम  वैशाली में हुआ था |

Q. 4 महावीर स्वामी के बचपन का नाम क्या था ?

Answer : वर्द्धमान 

Q. 5 महावीर स्वामी के पत्नी का नाम क्या था ?

Answer : यशोदा 

Q. 6 महावीर स्वामी ने सन्यास किस उम्र में ग्रहण किया ?

Answer : 30 वर्ष की उम्र में

Q. 7 महावीर स्वामी के प्रथम अनुयाई कौन बने ?

Answer : उनके दामाद जामिल 

Q. 8 मौर्योत्तर काल में जैन धर्म का सबसे प्रसिद्ध केंद्र कौन बना ?

Answer : मथुरा

Q. 9 खजुराहो में जैन मंदिरों का निर्माण किस शासकों ने किया ?

Answer : खजुराहो में जैन मंदिर का निर्माण चंदेल शासकों द्वारा किया गया  |

Q. 10 महावीर स्वामी की मृत्यु कब हुई ?

Answer : 72 वर्ष की उम्र में 468 ईसा पूर्व में बिहार के अंतर्गत पावापुरी ( राजगीर ) में हुई इसे निर्वाण भी कहा जाता है  |

Q.11 जैन धर्म के तीर्थंकरों की जीवनी की रचना किसने की  ?

Answer : भद्रबाहु द्वारा रचित “कल्पसूत्र”

Q. 12 जैन धर्म में किस की मान्यता है  ?

Answer : आत्मा

कहानी –

 जैन धर्म के संस्थापक जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर ऋषभदेव थे | जैन धर्म के 24वें एवं अंतिम तीर्थंकर महावीर स्वामी थे  | महावीर स्वामी का जन्म 540 ईसा पूर्व में कुंडल ग्राम वैशाली में हुआ था | महावीर स्वामी के पिता का नाम सिद्धार्थ एवं माता का नाम त्रिशला था और उनकी पत्नी का नाम यशोदा था इनकी एक पुत्री थी जिसका नाम प्रियदर्शनी था महावीर स्वामी ने 30 वर्ष की अवस्था में सन्यास को ग्रहण कर लिया और महावीर स्वामी ने 12 वर्षों तक कठिन तपस्या की इन्हें ज्ञान का बोध हुआ महावीर स्वामी ने अपना प्रथम उपदेश प्राकृत भाषा में दिया |

 महावीर स्वामी के प्रथम अनुयाई उनके दामाद जामिल स्वयं बने

जैन धर्म के प्रसिद्ध ग्रंथ त्रिरत्न है सम्यक दर्शन, सम्यक ज्ञान और सम्यक आचरण |  महावीर स्वामी के बचपन का नाम वर्धमान था यह प्रश्न परीक्षा में बार-बार पूछा जाता है |

खजुराहो में जैन मंदिरों का निर्माण चंदेल शासकों ने किया और मौर्योत्तर युग में जैन धर्म का सबसे प्रसिद्ध केंद्र मथुरा बना | 468 ईसा पूर्व में पावापुरी में महावीर स्वामी की मृत्यु हो गई इनकी इस मृत्यु को निर्वाण कहा गया | जैन तीर्थंकरों के बारे में भद्रबाहु द्वारा रचित ” कल्पसूत्र” में बताया गया है |

Thank you

www.allindiafreetest.com