UPTET 2022 Lawrence Kohlberg Theory || परीक्षा में पूछे जा सकते है ये सवाल इन्हें पढ़ें

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

UPTET 2022 Lawrence Kohlberg Theory || परीक्षा में पूछे जा सकते है ये सवाल इन्हें पढ़ें

UPTET Exam 2022 : (kohlberg Theory of Moral Development Questions for UPTET) : UPTET उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन 23 जनवरी 2022 को दो शिफ़्ट में किया जा रहा है। सभी शिक्षक बनने की इच्छा रखने वाले प्रदेश के 21 लाख से अधिक युवा उम्मीदवार इस परीक्षा में शामिल होंगे। UPTET परीक्षा के एडमिट कार्ड ऑफिशल वेबसाइट updeled.gov.in पर जारी किए कर दिए गए है यदि अपने UPTET Admit Card 2022 Download नहीं किया है तो नीचे लिंक से डाउनलोड कर लेवें। Uptet 2022 परीक्षा में अच्छे अंक हासिल करने के लिए अभ्यर्थी को परीक्षा के इन शेष दिनों में अपनी तैयारी पर जोर दें रहें हैं और रिवीजन पर विशेष ध्यान भी देना चाहिए। यूपी टेट परीक्षा के एक मुख्य विषय “बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र” के मुख्य टॉपिक से पूछे जाने वाले कोलबर्ग के सिद्धांत पर आधारित कुछ महत्वपूर्ण सवाल शेयर कर रहे हैं यदि आप भी यूपी टेट परीक्षा देने जा रहे हैं तो इन सवालों को एक नजर जरूर देख लें।

 

Lawrence Kohlberg (लारेन्स कोलबर्ग)–

लॉरेंस कोहलबर्ग एक अमेरिकी विद्वान थे। इन्होंने 1958 ई. में सिद्धांत प्रतिपादित किया।

लारेन्स कोलबर्ग की महत्वपूर्ण पुस्तकों का नाम नीचे है देख लेवें –

(1) The psychology of moral development – सन 1984

(2) Meaning and measurement of moral development – सन 1981

(3) The philosophy of moral development – सन 1981

 

कोहलबर्ग का नैतिक विकास का सिद्धांत — Kohlberg’s theory of Moral Development

 

अमेरिका के मनोवैज्ञानिक लारेन्स कोहलबर्ग ने नैतिकता के 3 स्तर (3-Level) और 6 अवस्थाओं (6- Stage) के बारे में बताया है तथा अपने सिद्धांत में नैतिक दुविधा और नैतिक तर्कणा की बात की है, इस सिद्धांत के अनुसार -समाज के सभी नियम मान्यताओं का आचरण नैतिक व्यवहार जन्मजात नहीं होता इसे सामाजिक परिवेश से सीखा या अर्जित किया जाता है , और जब बालक का जन्म होता है तो वह ना तो नैतिक होता है, और ना ही अनैतिक, बल्कि वह अच्छा या बुरा का ज्ञान या अच्छा और बुरा समाज से ही सीखता है और वैसा ही बन जाता है जैसा उसे बनाया जाता है।

 

kohlberg Theory of Moral Development Questions for UPTET– परीक्षा से पहले जरूर पढ़े इन प्रश्नो को 

 

प्रश्न 1: एक शिक्षिका अपने शिक्षार्थियों की विभिन्न अधिगम सहेलियों को संतुष्ट करने के लिए व्यक्ति पूर्ण कार्यों का उपयोग करती है वह किससे से प्रभावित है ?

a) कोहलबर्ग के बहु बुद्धि के सिद्धांत

b) गार्डनर की बहु बुद्धि सिद्धांत

c) वाइगोत्सकी के सामाजिक सांस्कृतिक सिद्धांत

d) पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत

Ans -(b)

 

प्रश्न 2: कोहलबर्ग के अनुसार शिक्षक बच्चों में नैतिक मूल्यों का विकास कर सकता है

a)धार्मिक शिक्षा को महत्व देकर ।

b) व्यवहार के स्पष्ट नियम बनाकर ।

c) नैतिक मुद्दों पर आधारित चर्चाओं में उन्हें शामिल करके ।

d) कैसे व्यवहार किया जाना चाहिए इस पर कठोर निर्देश देकर ।

Ans – (c)

 

प्रश्न 3: कोहलबर्गके अनुसार सही और गलत के बारे में बच्चे किस प्रकार चिंतन करते हैं।

a)अलग आयु में अलग तरीके से

b) अलग चरणों में समान रूप से

c) संदर्भ के अनुसार

d)अभिभावकों द्वारा प्रदत्त निर्देशों के अनुसार

Ans -(a)

 

Q.4 कोहलबर्ग के अनुसार शिक्षक बच्चों में नैतिक मूल्यों का विकास कर सकता है –

a)नैतिक मुद्दों पर आधारित चर्चाओं में उन्हें शामिल करके

b) कैसे व्यवहार किया जाना चाहिए इस पर कठोर निर्देश देकर

c) धार्मिक शिक्षा को महत्व देकर

d) व्यवहार के स्पष्ट नियम बनाकर

Ans -(a)

 

Q.5 लॉरेंस कोहलबर्ग के सिद्धांत में कौन सा स्तर नैतिकता की अनुपस्थिति को सही अर्थों में सूचित करता है

a) स्तर IV

b) स्तर I

c) स्तर II

d) स्तर III

Ans -(b)

 

Q.6 कोहलबर्ग के सिद्धांत की एक प्रमुख आलोचना क्या है ?

a) कोहलबर्ग ने बिना किसी अनुभूति मूलक आधार के सिद्धांत प्रस्तुत किया

b) कोहलबर्ग ने प्रस्ताव किया कि नैतिक तार्किकता विकासात्मकता है

c) कोहलबर्ग ने पुरुषों एवं महिलाओं की नैतिक तार्किकता में सांस्कृतिक विभिन्नताओं को महत्व नहीं दिया

d)कोहलबर्ग नैतिक विकास की स्पष्ट अवस्थाओं का उल्लेख नहीं किया

Ans -(c)

 

Q.7 कोहलबर्ग के सिद्धांत की पूर्व परंपरागत स्तर के अनुसार कोई नैतिक निर्णय लेते समय एक व्यक्ति निम्नलिखित में से किस तरफ प्रवृत्त होगा ?

a) अंतर्निहित संभावित दंड

b) व्यक्तिगत आवश्यकताएं तथा इच्छाएं

c) व्यक्तिगत मूल्य

d) पारिवारिक अपेक्षाएं

Ans -(b)

 

Q.8 एक बच्चा तर्क प्रस्तुत करता है आप यह मेरे लिए करें और मैं वह आपके लिए करूंगा यह बच्चा कोहलबर्ग के नैतिक तर्कणा की किस अवस्था के अंतर्गत आएगा ?

a) सहायक उद्देश्य अभिमुखीकरण

b) दंड और आज्ञा पालन अभिमुखीकरण

c) अच्छा लड़का अच्छी लड़की अभिमुखीकरण

d) सामाजिक अनुबंध अभिमुखीकरण

Ans -(a)

 

Q.9 कोह्लबर्ग किस सिद्धांत के योगदान के रूप में निम्नलिखित में से किसे माना जा सकता है ?

a) उनका विश्वास है कि बच्चे नैतिक दार्शनिक हैं I

b)उनके सिद्धांत ने संज्ञानात्मक परिपक्वता और नैतिक परिपक्वता के बीच एक सहयोग का समर्थन किया है।

c) इस सिद्धांत में विस्तृत परीक्षण प्रक्रियाए हैं ।

d) यह नैतिक तर्क और कार्यवाही के बीच के स्पष्ट संबंध स्थापित करता है ।

Ans -(b)

 

Q.10 आप एक शिक्षिका / शिक्षक के रूप में रैगिंग और धमकाने के सख्त विरोधी हैं । तथा इस संदर्भ में विद्यालय में पोस्टर लगवाते हैं। तथा समिति बनवाते हैं , आप से जुड़ने वाले किशोर जो इस विचार के दृढ़ विश्वास ही हैं निम्नलिखित में से किस स्तर पर होंगे ?

a) पूर्वपारंपरिक

b) पारंपरिक

c) उत्तर पारंपरिक

d) सामाजिक व्यवस्था बनाए रखने वाला

Ans – (d)